Home » वायरल न्यूज़ » World’s largest soaring bird Andean condors can fly for 160 km without flapping wings
 

बिना पंख फड़फड़ाए हवा में घंटो रह सकता है यह पक्षी, 160 किलोमीटर का तय कर सकता है सफर, शोध में हुए चौंकाने वाले खुलासे

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 July 2020, 19:16 IST

एक नए शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि किस तरह दुनिया का सबसे बड़ा उड़ने वाला पक्षी अंडियन कोंडोर बिना अपने पंखों को फड़फड़ाए, हवा की धाराओं में घंटों तक सवारी कर सकता है.

इंडियन कोंडोर के पंखों का फैलाव करीब 10 फीट तक होता है और इसका वजन करीब 15 किलो होता है जिसके कारण इसे दुनिया का सबसे भारी उड़ने वाला जीव भी कहते हैं.


पहली बार, वैज्ञानिकों की एक टीम ने पैटागोनिया में आठ कोंडोर पक्षियों पर रिकॉर्डिंग उपकरण लगाए ताकि प्रत्येक पंखों की फड़फड़ाहट को रिकॉर्ड किया जा सके. टीम ने इन उपकरणों को डेली डायरी" नाम दिया और उन्होंने करीब 250 घंटे से अधिक की उड़ान तक इसे रिकॉर्ड किया.

अविश्वसनीय रूप से, यह पक्षि जब तक हवा में रहे इस दौरान उन्होंने केवलव एक प्रतिशत समय अपने पंखों को फड़फड़ाते हुए बिताए, वो भी ज्यादातर जमीन से हवा में उड़ने के दौरान. शोध में एक पक्षी ने करीब पांच घंटे से अधिक समय तक उड़ान भरी वो भी बिना अपने पंखों को फड़फड़ाए, इस दौरान उसने करीब 100 मील यानि 160 किलोमीटर से अधिक का सफर तय किया था.

 

वेल्स के स्वानसी विश्वविद्यालय की जीवविज्ञानी और इस अध्ययन में सह-लेखक एमिली शेपर्ड ने कहा,"कोंडोर विशेषज्ञ पायलट हैं, लेकिन हमें उम्मीद नहीं थी कि वे काफी विशेषज्ञ होंगे." बता दें, इस शोध के नतीजे सोमवार को नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज की पत्रिका में प्रकाशित हुए.

स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में पक्षी की उड़ान के विशेषज्ञ डेविड लेंटिंक, जो इस शोध में शामिल नहीं है उन्होंने कहा,"यह खोज कि वे मूल रूप से अपने पंखों को फड़फड़ाते नहीं है, और सिर्फ ऊंची उड़ान भरते हैं, यह हैरान करने वाला है."

बता दें, इससे पहले पिछले अध्ययनों से पता चला है कि सफेद सारस और ओस्प्रे फ्लैप क्रमशः 17 प्रतिशत और 25 प्रतिशत, हवा में रहने के दौरान अपने पंखों को फड़फड़ाते हैं.

अर्जेंटीना में नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ कोमाहु के सर्जियो लैम्बर्टुकी जो इस अध्ययन के सह-लेखक हैं उन्होंने कहा,"इंडियन कोंडोर बिना पंख फड़फड़ाए लंबे समय तक हवा में रह सकते हैं और यह उनकी जीवनशैली के लिए आवश्यक है, क्योंकि वो खान के लिए ऊंचे पर्वतों के चक्कर लगाने हुए दिन में कई घंटो तक हवा में रहते हैं."

मलेशिया में मिली अनोखी मछली, इंसानों की तरह हैं दांत और होंठ, देखें हैरान कर देने वाली तस्वीरें 

First published: 15 July 2020, 18:35 IST
 
अगली कहानी