Home » अजब गजब » A woman had become a billionaire overnight her name Yuan Liping
 

एक महिला जो रातों-रात बन गई 24 हजार करोड़ की मालकिन, जानिए क्या थी वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 October 2021, 13:54 IST

कहते हैं कि किस्मत कब बदल जाए कोई नहीं जानता. राजा को रंक और रंक को राजा बनते देर नहीं लगती. ऐसी ही कुछ हुआ था चीन की एक महिला के साथ. जो रातों रात खरबपति बन गई थी. दरअसल, पिछले साल चीन की एक महिला इतनी मालामाल हो गई. जिसके बारे में उसने सपने में भी नहीं सोचा था. इस महिला का नाम युआन लिपिंग है. इसी के साथ युआन दुनिया की सबसे अमीर महिलाओं की सूची में भी शामिल हो गई थीं. ऐसे आप ये जरूर जानना चाहते होंगे कि ऐसा कौन सा खजाना युआन के हाथ लग गया था कि वो रातों-रात अमीर बन गई थीं. 

चलिए बताते हैं पूरी कहानी. दरअसल, चीन की एक वैक्सीन बनाने वाली कंपनी शेंझेन कंगटाई बायोलॉजिकल प्रोडक्ट्स कंपनी के चेयरमैन हैं ड्यू वेइमिन और उनकी पूर्व पत्नी हैं युआन लिपिंग. पिछले साल मई महीने में आपसी सहमति से दोनों का तलाक हो गया था. जिसे दुनिया के सबसे महंगे तलाक में से एक माना गया. तलाक से पहले तक ड्यू वेइमिन के पास 6.3 अरब डॉलर यानी लगभग 47,250 करोड़ की संपत्ति थी, लेकिन तलाक के बाद मुआवजे के तौर पर उन्हें अपनी पत्नी युआन लिपिंग को कंपनी के 161.3 करोड़ शेयर देने पड़े. 


गल्फ न्यूज की एक रिपोर्ट के मुताबिक, उस समय उन शेयरों की कीमत 3.2 अरब डॉलर यानी करीब 24,000 करोड़ रुपये थी. तलाक के बाद ड्यू वेइमिन की कुल संपत्ति घटकर लगभग 3.1 अरब डॉलर यानी 23,250 करोड़ रुपये हो गई थी. हालांकि इसमें गिरवी रखे गए शेयरों की कीमत को शामिल नहीं किया गया था. बता दें कि ड्यू वेइमिन का जन्म 1963 में एक किसान परिवार में हुआ था. उनका बचपन बिल्कुल साधारण तरीके से बीता. उन्होंने साल 1984 में एक स्थानीय स्वास्थ्य विद्यालय में अध्ययन शुरू किया और 1987 में जियांग्सी प्रांतीय स्वास्थ्य और महामारी निवारण स्टेशन में एक निरीक्षक के रूप में उन्हें पहली नौकरी भी मिल गई.

दुनिया की सबसे खतरनाक लैब, जहां प्रयोग के लिए काटे जाते थे जिंदा इंसानों के अंग, शरीर में डाले जाते थे जानलेवा वायरस

उनकी किस्मत तब बदल गई जब उन्होंने 1990 के दशक में एक वैक्सीन कंपनी में सेल्समैन बनने के लिए निरीक्षक की नौकरी छोड़ दी. उनकी मेहनत और लगन को देखकर 1995 में उन्हें उस कंपनी का सेल्स मैनेजर बना दिया गया. इसके बाद साल 2009 में उन्होंने कंपनी का अधिग्रहण कर लिया और उसके चेयरमैन बन गए. कंपनी ने दिन दो गुनी-रात चौगुनी तरक्की की और वह दुनिया के सबसे अमीर लोगों में शामिल हो गए.

ये है दुनिया की सबसे खतरनाक जेल, जहां एक दूसरे की जान ले लेते हैं कैदी, खा जाते हैं उनका मांस

First published: 13 October 2021, 13:54 IST
 
अगली कहानी