Home » अजब गजब » Farmer became an example: started cultivating this plant, earned Rs 17 lakh in four years
 

किसान बना मिसाल: पारंपरिक खेती छोड़ शुरू की इस पौधे की खेती, चार साल में कमाए 17 लाख रुपये

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 September 2021, 10:56 IST
bamboo (catch news)

अपने पैसे को दोगुना हर कोई करना चाहता है. इसके लिए लोग शेयर बाजार में निवेश करते हैं लेकिन फिर भी उतना कमा नहीं पाते हैं. लखीमपुर खीरी के एक किसान ने एक अनोखा कारनामा करके दिखाया है. किसान ने अपने खेत से ही 7 साल में 4 गुना से ज्यादा पैसा कमाने का तरीका ढूंढ लिया.

अब आप सोच रहे होंगे कि कैसे एक किसान सिर्फ खेती करके अपनी आमदनी को दोगुना कर सकता है? तो आपको बता दें कि उस किसान ने पारंपरिक खेती से हटकर बांस की खेती की. लखीमपुर खीरी के बेहजाम विकासखंड के साकेतु गांव के रहने वाले शिक्षित किसान सुरेश चंद्र वर्मा न सिर्फ बांस की खेतीकर रहे हैं बल्कि दो साल में इस खेती में सह फसल के रूप में गन्ने की खेती कर बेहतर मुनाफा भी कमा रहे हैं.

65 वर्षीय किसान को जमीन विरासत में मिली और उन्होंने बीए एलएलबी की डिग्री होने के बावजूद खेती शुरू की. वर्मा को गन्ना, धान और गेहूं जैसीअलग-अलग चीजों की खेती करने का शौक है. इससे वह बागवानी के मास्टर भी बन गए हैं. वह आम, आंवला, लीची और नींबू के बागान भी लगाते हैं और बहुत सारी इंटरग्रोव खेती और सह-फसल को भी उगाते हैं.

वर्मा ने करीब डेढ़ एकड़ खेत में बांस लगाना शुरू किया. इसके साथ ही सह-फसल के रूप में तीन वर्षों तक गन्ने की खेती भी जारी रही. लेकिन चौथे वर्ष के बाद से खेत में केवल बांस ही रह गया. वर्मा ने पंतनगर कृषि विश्वविद्यालय से 25 रुपये मूल्य का पौधा लाकर एक एकड़ में 234 पौधे लगाए. एक पौधा चार साल में बीस से 22 बांस तैयार करता है.

अभी इन बांसों में जुताई का कार्य तीव्र गति से हो रहा है. एक बांस के पौधे में 40 से 50 बांस होने की उम्मीद है, गांव में बांस 150 रुपये में बिकता है. इस तरह 234 पौधों में 50-50 बांस निकलेंगे तो 11700 बांस होंगे. 150 रुपये प्रति बांस का रेट मिल जाए तो 17.55 लाख रुपये हो जाता है. अब अगर रेट थोड़ा और बढ़ता है तो यह बढ़ भी सकता है.

शेर ने किया भैंस के बच्चे पर हमला तो बचाने के लिए दौड़ पड़ी मां, वीडियो में देखें आगे हुआ क्या

OMG: मात्र 10 मिनट में डेढ़ लीटर कोल्ड ड्रिंक पी गया युवक, पेट में बनी गैस और हो गई दर्दनाक मौत

First published: 26 September 2021, 10:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी