Home » अजब गजब » Hormuz Island in Iran: Where people eats soil like spices, know the reason
 

मसाले की तरह खाने में मिट्टी डालकर खाने के शौकीन हैं यहां के लोग, जानिए क्या है इसकी वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 November 2021, 10:58 IST

खाने पीने के मामले में दुनिया के अलग-अलग देशों में भिन्न भिन्न प्रकार के व्यंजन बनाए जाते हैं. लेकिन इन व्यंजनों को बनाने के लिए मसालों का इस्तेमाल जरूर किया जाता है. क्योंकि बिना मसालों के खाने में किसी भी प्रकार का स्वाद नहीं आता. आज हम आपको दुनिया के एक ऐसे स्थान के बारे में बताने जा रहे हैं. जहां के लोग खाने में मसालों की जगह मिट्टी का इस्तेमाल करते हैं. क्योंकि यहां की मिट्टी बेहद स्वादिष्ट होती है और इसके साथ ही सेहतमंद भी. इसलिए लोग मिट्टी को खाने में मसाले की तरह इस्तेमाल करते हैं. दरअसल, हम बात कर रहे हैं ईरान के होरमूज आइलैंड की.

इस आइलैंड पर रहने वाले लोग मसालों की जगह मिट्टी का खाने में इस्तेमाल करते हैं. बता दें कि खूबसूरत पहाड़ों की वजह से यह आईलैंड वहां के लोगों के लिए बेहद खास है. लेकिन इन पहाड़ों की सबसे खास बात है कि यहां की मिट्टी रंग बिरंगी है जिसकी वजह से इस आईलैंड को रैनबो आईलैंड के नाम से भी जाना जाता है. ईरान के इस आईलैंड के खूबसूरत रंग-बिरंगे पहाड़ों की तस्वीरें कई बार सोशल मीडिया में आ चुकी हैं. जिन्हें देखकर यकीनन आप हैरान रह जाएंगे और सोच में पड़ जाएंगे कि आखिर मिट्टी इतनी खूबसूरत कैसे हो सकती है. आपने भी शायद पहली ही बार सुना होगा कि ईरान के इन खूबसूरत पहाड़ों की मिट्टी मसाले की तरह खाई जाती है.


यही नहीं यहां पर आने वाले पर्यटक भी इन पहाड़ों की मिट्टी का स्वाद लेना नहीं भूलते. हालांकि पहले तो वह मिट्टी खाने से कतराते हैं, लेकिन जब उनका गाइड उन्हें मिट्टी खाने की सलाह देता है तो वह शौक से उसे खाते हैं और दंग रह जाते हैं. बता दें कि यह खूबसूरत आईलैंड फारस की खाड़ी में स्थित है और यहां की मिट्टी में भरपूर खनिज हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक, यहां की मिट्टी में बहुत ज्यादा आयरन और लगभग 70 तरह के खनिज पाए जाते हैं.

यही नहीं यहां के पहाड़ों पर नमक के टीले भी मौजूद हैं. इन पहाड़ों पर शेल, मिट्टी और आयरन की परतें जमी हुई हैं. जिसकी वजह से पहाड़ रंग बिरंगे नजर आते हैं.

ये है दुनिया का सबसे अनोखा शहर, जहां नहीं हुई सात दशक से किसी की मौत

ब्रिटेन के जियोलॉजीकल रिसर्च की चीफ भूवैज्ञानिक डॉ. कैथरीन गुडइनफ के मुताबिक, करोड़ों साल पहले फारस की खाड़ी के पास स्थित उथले सागरों में नमक की मोटी परत जम गई थी. इसके बाद से इसके ऊपर नई परतें जमा होती गईं. जिससे इस आइलैंड की मिट्टी खूबसूरत हो गई.

ये है दुनिया की सबसे अनोखी झील, जिसके ऊपर हवा में लटके हैं पत्थर

First published: 11 November 2021, 10:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी