Home » अजब गजब » World's mysterious waterfalls river that's half water gets absorbed in a small hole
 

ये है दुनिया का सबसे अनोखा झरना, एक छोटे से छेद में समा जाता है जिसका आधा पानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 August 2021, 13:28 IST

पूरी दुनिया असंख्य रहस्यों से भरी हुई है. जिनका आजतक कोई पता नहीं लगा पाया. तमाम वैज्ञानिक तरीके अपनाने के बाद भी इनके रहस्य आज भी रहस्य ही बने हुए हैं. आज हम आपको एक झरने के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका पानी एक छोटे से छेद में समा जाता है. इस रहस्य को जानने की भी लोगों ने बहुत कोशिश की लेकिन इससे आज तक पर्दा नहीं हटाया जा सका. लोग आज भी हैरान हैं कि आखिर इस झरने का पानी चला कहां जाता है. दरअसल, हम बात कर रहे हैं अमेरिका के 'द डेविल्स कैटल' नाम के एक झरने की. इसी झरने के पास एक छेद बना हुआ है. जिसमें नदी का आधा पानी समा जाता है.

आज तक दुनिया का कोई भी वैज्ञानिक और विज्ञान यह पता नहीं लगा पाया कि यह पानी आखिर जाता कहां जाता है. यह जगह अमेरिका में 'सुपीरियर लेक' के उत्तरी किनारे पर मिनेसोता में जज सी.आर. मैगनेसी पार्क में है. ये झरना बहुत ही खूबसूरत होने के साथ ही रहस्य से भी भरा हुआ है. डेविल्स कैटल का मतलब 'शैतान की कड़ाही' होता है. इस अद्भुत झरने को लेकर लोगों में तरह-तरह की जिज्ञासाएं आज भी बनी हुई हैं. बता दें कि इस झरने का स्तोत्र ब्रुल नदी का पानी है.


जंगल में झरने का पानी घुमावदार, सकरीले चट्टानी रास्तों से नीचे की ओर गिरता है और ऊंचाई से गिरते हूए झरने का पानी एक छोटे से छेद में समा जाता है ये पानी आखिर जाता कहां है इसके बारे में आज तक कोई नहीं जान पाया. हालांकि इस पानी का पता लगाने के लिए कई बार प्रयास किए गए लेकिन इसका रहस्य कई खुल नहीं पाया. बता दें कि ऊंचाई से जहां पानी की धारा गिरती है, 

पेड़ पर चढ़ रही विशालकाय छिपकली पर कर दिया दो कुत्तों ने हमला, वीडियो में देखें देखें आगे का नजारा

वहां कढ़ाही की शक्ल में एक छोटा सा कुंड दिखाई देता है लेकिन झरने का गैलनों लीटर पानी इस कुंड से कहां गायब हो जाता है इसका पता आज तक नहीं चल पाया है. पानी के रास्ते खोजने के लिए कई बार वाटरफाल में पिंग-पांग बॉल, कलर डाई आदि डाला गया ताकि इसके आधार पर इस मिस्टीरियस झरने के पानी के गंतव्य का रहस्य जाना जा सके. लेकिन इसमें में भी कोई सफलता नहीं मिली.

ये है दुनिया का सबसे धीमा देश, जहां साल के होते हैं 13 महीने और आठ साल पीछे है इसका कैलेंडर

First published: 21 August 2021, 13:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी