Home » बिहार » 36 people died in Bihar after consuming suspected spurious liquor
 

बिहार में जहरीली शराब पीने से 36 लोगों की मौत, CM नीतीश कराएंगे शराबबंदी को लेकर समीक्षा

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 November 2021, 8:58 IST

बिहार में शराबबंदी होने के बावजूद लोग अवैध शराब का कारोबार कम नहीं हो रहा है. बिहार से आए दिन जहरीली शराब पीने से होने वाली मौकी खबर आती रहती है. अब एक बार फिर से बिहार में शराब ने कहर बरपाया है. बिरार के गोपालगंज और बेतिया में जहरीली शराब पीने से अब तक 36 लोगों की मौत हो चुकी है. जिनमें से 20 लोगों की मौत गोपालगंज और 16 की बेतिया में हुई है. इस घटना के बाद राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर से बिहार में शराबबंदी की समीक्षा कराने की बात कही है. पीएम ने कहा है कि पर्व के बाद हम शराबबंदी को लेकर समीक्षा बैठक करेंगे और शराबबंदी को प्रभावी तरीके से लागू करने के लिए बड़ा अभियान चलाया जाएगा.

जहरीली शराब की इस घटना के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हम पहले से कह रहे थे, गलत लोगों के चक्कर में न पड़ें. लगातार पुलिस और प्रशासन की ओर से कार्रवाई की जाती है. लोग गिरफ्तार होते हैं, अवैध शराब बरामद की जाती है. एक बार फिर से लोगों को जागरूक करने के लिये व्यापक जनजागरूकता अभियान की जरूरत है. छठ महापर्व के बाद 16 नवंबर को शराबबंदी को लेकर विस्तृत समीक्षा बैठक की जायेगी.


वहीं बिहार के एक्साइज मंत्री सुनील कुमार ने कहा कि पुलिस अधिकारियों ने मौके का मुआयना किया है. कई जगहों पर छापेमारी की जा रही है और  कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है. उन्होंने कहा कि, “मैं स्वीकार करता हूं कि स्थानीय स्तर पर कुछ लापरवाही के कारण यह घटना हुई. दोनों थाना प्रभारी सस्पेंड, 1 गार्ड भी सस्पेंड किया गया है.” उन्होंने कहा कि शराबबंदी के बाद से हमने कई कड़े कदम उठाए हैं. अब तक 187 लाख लीटर से अधिक शराब जब्त की गई, 3 लाख से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया और लगभग 60,000 वाहन जब्त किए गए. हम सरकारी अधिकारियों समेत सभी पर कार्रवाई कर रहे हैं.

पाकिस्तान ने श्रीनगर-शारजाह फ्लाइट पर जताई नाराजगी तो उमर अब्दुल्ला ने कही ये बात

वहीं गोपालगंज के डीएम नवल किशोर चौधरी ने कहा कि अभी तक जो तथ्य समाने आए हैं उससे पता चलता है कि स्प्रिट से शराब बनाने का प्रयास किया गया. एफएसएल रिपोर्ट आने के बाद हम पुख्ता बता सकते हैं, लेकिन लोगों के बयान के आधार पर मौतें जहरीली शराब से हुई हैं, इसकी आधिकारिक तौर पर अभी पुष्टि नहीं की जा सकी है. गोपालगंज के एसपी आनंद कुमार के मुताबिक, मामले की जांच की जा रही है. अगर कोई पुलिस अधिकारी इस मामले में संलिप्त पाया जाता है तो उस पर भी कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने बता कि पिछले 24 घंटे के दौरान 50 से अधिक स्थानों पर छापेमारी की गई है. जिसमें 19 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 270 लीटर देशी शराब और 6 वाहन जब्त किए गए हैं.

दिवाली पर इतनी कम हुई पेट्रोल-डीजल की कीमत, यूपी में 12 रुपये सस्ता हुआ तेल

First published: 6 November 2021, 8:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी