Home » बिहार » Patna Gandhi Maidan Serial Blast 2013 Case: 4 convicts get capital punishment and two got life imprisonment
 

पटना सीरियल ब्लास्ट 2013 केस में सजा का ऐलान, 4 दोषियों को फांसी तो दो को हुई उम्रकैद

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 November 2021, 18:29 IST
(File Photo )

पटना के गांधी मैदान में साल 2013 में नरेंद्र मोदी की हुंकार रैली के दौरान हुए सीरियल ब्लास्ट के मामले में सोमवार को अदालत ने सजा का ऐलान कर दिया. पटना की एनआईए कोर्ट ने गांधी मैदान सीरियल ब्लास्ट केस में 4 दोषियों को फांसी की सजा सुनाई है जबकि 2 दोषियों को उम्रकैद की सजा दी गई है. साथ ही 2 दोषियों को 10 साल कारावास की सजा सुनाई गई है. वहीं एक दोषी को 7 साल की सजा सुनाई गई है. बता दें कि साल 2013 में हुए बम धमाकों के मामले में एनआईए की विशेष अदालत ने नौ अभियुक्तों को बीते बुधवार को दोषी करार दिया था जबकि एक आरोपी को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया था. इन्हीं आरोपियों की सजा पर अदालत ने सोमवार को फैसला सुनाया है.

एनआईए अदालत के विशेष न्यायधीश गुरविंदर मल्होत्रा दोषियों को सजा का ऐलान किया. जज मल्होत्रा ने सीरियल बम ब्लास्ट के मामले में इम्तियाज अंसारी, मुजीबुल्लाह, हैदर अली, फिरोज असलम, नोमान अंसारी, इफ्तिखार, अहमद हुसैन, उमेर सिद्दिकी एवं अजहरुद्दीन को दोषी करार दिया था, जबकि साक्ष्य के अभाव में फखरुद्दीन को बरी घोषित किया. बता दें कि इस मामले में एनआईए ने 11 अभियुक्तों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था जिनमें से एक अभियुक्त की उम्र कम होने की वजह से उसका मामला किशोर अदालत में हस्तांतरित कर दिया गया था. उनके अनुसार बाकी बचे दस अभियुक्तों के खिलाफ एनआईए अदालत में सुनवाई हुई.


ये है पूरा मामला

बता दें कि पटना के गांधी मैदान में 27 अक्टूबर 2013 को बीजेपी ने हुंकार रैली का आयोजन किया था. इस रैली के मुख्य वक्ता गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी थे. मोदी समेत पार्टी के नेताओं के मंच पर पहुंचने के करीब 20 मिनट पहले ही मैदान में सिलसिलेवार धमाके हुए, जिसमें छह लोगों की मौत हो गई और करीब सात दर्जन लोग जख्मी हुए थे.

दिवाली से पहले वाराणसी, अयोध्या समेत देश के 46 रेलवे स्टेशनों को बम से उड़ाने की धमकी, अलर्ट जारी

इन धमाकों का मास्टरमाइंड हैदर अली और मुजीबुल्लाह को बताया जाता है. एनआईए ने आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद जब सख्ती से पूछताछ की तो इम्तियाज ने कई नामों का खुलासा किया. जिसके बाद धमाकों के मास्टरमाइंट समेत दो दर्जन से अधिक आतंकियों को जांच एजेंसी गिरफ्तार कर लिया. इसके साथ ही इस पूछताछ में बोधगया में हुए धमाकों का भी खुलासा हुआ था.

Winter 2021: हो जाएं सावधान, जल्दी ही पड़ने लगी कड़ाके की ठंड, कंपा देगी आपकी रूह

First published: 1 November 2021, 18:29 IST
 
अगली कहानी