Home » बिज़नेस » GST Council Meeting Lucknow: Decision on life saving drug and petrol diesel price
 

GST काउंसिल की बैठक में नहीं बनी पेट्रोल-डीजल पर सहमति, जीवन रक्षक दवाएं होंगी सस्ती

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 September 2021, 21:59 IST

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार को हुई जीएसटी काउंसिंल की बैठक में पेट्रोल-डीजल पर सहमति नहीं बनी. हालांकि, कई जीवन रक्षक दवाओं को जीएसटी फ्री कर दिया गया. बैठक के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह भी ऐलान किया है कोरोना के इलाज से जुड़ी जिन दवाओं पर 30 सितंबर तक जीएसटी घटाई गई थी उसे बढ़ाकर अब 31 दिसंबर तक कर दिया गया है. बता दें कि जीएसटी दर में कटौती सिर्फ रेमडेसिविर जैसी दवाओं के लिए हैं. इनमें मेडिकल उपकरण शामिल नहीं है. इससे पहले कोरोना से संबंधित दवाओं पर जीएसटी दरों में छूट दी गई थी जो 30 सितंबर तक लागू थी, अब इस छूट को बढ़ाकर 31 दिसंबर 2021 तक कर दिया गया है. जीएसटी दरों में ये छूट सिर्फ दवाइयों में दी जाएगी, पहले जो लिस्ट जारी की गई थी उसमें कई तरह के दूसरे उपकरण भी शामिल थे.

बैठक के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, हमने जनता के हितों वाले फैसले लिए हैं. ये सभी लंबे समय से अटके पड़े थे. आवश्यक दवा को लेकर प्रक्रिया बहुत लंबी थी, जिसको अब टैक्स के दायरे से बाहर कर दिया गया है. Zolgensma और Viltepso नाम की बहुत महंगी दवाओं को टैक्स के दायरे से बाहर रखने का फैसला आज हुआ है. स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जिन दवाओं को टैक्स के दायरे के बाहर रखने का सुझाव आया था, उन्हें भी छूट दी गई है.


पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर हुई चर्चा

वित्त मंत्री ने बताया कि, पेट्रोल डीजल पर सिर्फ ये हुआ कि कोर्ट के सुझाव पर हमने इस बात को बैठक में रखा. हमने सबसे पूछा कि क्या पेट्रोल डीजल को जीएसटी के दायरे में लाना चाहिए. इस पर ज्यादातर सदस्यों ने कहा नहीं. हम ये बात कोर्ट को जाकर बताएंगे.

यूपी और बिहार समेत इन राज्यों में फैला डेंगू और वायरल फीवर का कहर, अब तक 100 से ज्यादा की मौत

बता दें कि कोरोना से संबंधित दवाओं में छूट की सीमा को 3 महीने बढ़ा दिया गया है. यानी अब ये दवाएं 31 दिसंबर जीएससी फ्री मिलेंगी. इसमें एम्फोटेरेसिन, रेमडिसिविर समेत 4 दवाओं को फायदा मिलेगा. 7 अन्य दवाओं को 12 प्रतिशत से 7 प्रतिशत की छूट की सीमा को भी 31 दिसम्बर तक बढ़ाया गया है. जिसमें कैंसर की दवा 12 प्रतिशत के दायरे से हटाकर 5 प्रतिशत कर दी गई है. दिव्यांगों के लिए बनी गाड़ियों को अब सिर्फ 5 प्रतिशत कर देना होगा. बायो डीजल में घटोत्तरी करते हुए 12 से 5 प्रतिशत कर दिया गया है.

COVID-19 Updates: फिर बढ़े कोरोना के मामले, पिछले 24 घंटे में आए 34 हजार से ज्यादा नए मामले

First published: 17 September 2021, 21:59 IST
 
अगली कहानी