Home » दिल्ली » Delhi: Yamuna flows close to danger mark after heavy rains and water discharge from Haryana
 

राजधानी दिल्ली के कई इलाकों में बाढ़ को लेकर अलर्ट जारी, खतरे के निशान को पार कर गई यमुना नदी

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2021, 12:37 IST
delhi flood (ani)

देश की राजधानी दिल्ली के कई इलाकों में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. यमुना नदी का जलस्तर काफी तेजी से बढ़ रहा है, इसे देखते हुए माना जा रहा है कि इसके आसपास के इलाकों में बाढ़ आ सकती है. इसे लेकर प्रशासन ने यमुना नदी क्षेत्र के करीब के निचले इलाकों में हाई अलर्ट जारी कर दिया है. प्रशासन ने चौबीसों घंटे स्थिति की निगरानी करने की बात कही है.

न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, दिल्ली की यमुना नदी का जलस्तर शुक्रवार की सुबह 11:00 बजे के आस-पास 205.34 हो गया है. बता दें कि खतरे का निशान 205.33 मीटर ही है. सुबह 9 बजे यमुना का जलस्तर 205.26 मीटर था. पिछले दिन भारी बारिश के कारण यमुना का जलस्तर काफी तेजी से बढ़ा है. अब यह खतरे के निशान को पार कर चुकी है.

सिंचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान पानी के बहाव की दर 1.60 लाख क्यूसेक पहुंच गयी है. यह इस साल की सबसे अधिक है. बृहस्पतिवार को सुबह 11:20 बजे हरियाणा के यमुनानगर जिले में हथिनीकुंड बैराज से यमुना में 85,879 क्यूसेक की दर से पानी छोड़ा जा गया. बैराज से छोड़े गए पानी को राजधानी दिल्ली तक पहुंचने में आम तौर पर दो-तीन दिन लगते हैं. 

वैसे तो हथनीकुंड बैराज से पानी के बहाव की दर 352 क्यूसेक होती है. हालांकि भारी बारिश के बाद डूब वाले इलाकों से ज्यादा पानी छोड़ा जा रहा है. अधिकारी ने बताया कि आज सुबह यमुना का जल स्तर ओल्ड रेलवे ब्रिज पर 205.26 मीटर था. दिल्ली और ऊपरी डूब वाले इलाकों में बारिश की वजह से यमुना नदी उफान पर है. अधिकारी ने बताया कि बैराज से यमुना में और पानी छोड़ा जा रहा है.

Coronavirus: देश में फिर से बढ़ने लगा कोरोना का प्रकोप, पिछले 24 घंटों में 44 हजार से ज्यादा नए केस

Coronavirus: बिहार ने बर्बाद कर दी 1.26 लाख वैक्सीन की डोज, कोरोना वैक्सीन बर्बादी में देश में नंबर-1 राज्य

First published: 30 July 2021, 12:37 IST
 
अगली कहानी