Home » हेल्थ केयर टिप्स » After recovering from corona virus, the patient may have difficulty in breathing for a year: Study
 

कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद मरीज को एक साल तक हो सकती है सांस लेने में दिक्कत: स्टडी

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 August 2021, 14:56 IST
coronavirus (catch news)

Coronavirus: कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंका के बीच एक नई स्टडी में दावा किया गया है कि कुछ मरीज जो कोरोना से ठीक हो गए हैं, उनमें एक साल तक सांस लेने की दिक्कत और थकान हो सकती है. कोरोना महामारी के दीर्घकालिक स्वास्थ्य प्रभावों की जांच के लिए यह शोध किया गया है. यह एक चीनी अध्ययन है.

स्टडी के अनुसार, कोरोना वायरस की वजह से अस्पताल में भर्ती होने के एक साल बाद तक मरीजों को थकान तथा सांस की तकलीफ झेलनी पड़ सकती है. 'द लैंसेट फ्राइडे' नामक लेख में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना से ठीक होकर अस्पताल से छुट्टी पाने वाले कई मरीज अभी भी कम से कम एक लक्षण से लगातार जूझ रहे हैं.

स्टडी में कहा गया है कि डायग्नोसिस के सालभर बाद भी तीन में से एक मरीज में सांस लेने की तकलीफ देखी गई. वहीं, गंभीर रूप से बीमार मरीजों में यह संख्या और अधिक देखी गई. स्टडी में कहा गया कि कई रोगियों को कोरोना से पूरी तरह से ठीक होने में एक साल से भी अधिक समय लग सकता है.

बता दें कि भारत में कोरोना वायरस का प्रकोप पिछले कुछ दिनों से एक बार फिर से बढ़ रहा है. पिछले 24 घंटे में देश में लगभग 45 हजार नए केस सामने आए. इस दौरान 496 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हो गई है. देश में 44,658 नए मामले सामने आने के बाद फिलहाल सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 3,44,899 हो गई है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना से 32,988 लोग ठीक होकर अपने घर वापस लौटे हैं. इसके बाद कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या अब कुल 3,18,21,428 हो चुकी है. भारत में अभी कोरोना रिकवरी रेट 97.60% है. वहीं वीकली पोजिटिविटी रेट 2.10 फीसदी है, पिछले 63 दिनों से यह 3 फीसदी से नीचे है.

Coronavirus: पिछले कुछ दिनों से लगातार बढ़ रहे केस, 24 घंटे में आए 44,658 नए COVID-19 केस

Coronavirus: अक्टूबर महीने से बच्चों को भी लगेगी वैक्सीन, बच्चे लेंगे दुनिया की पहली DNA वैक्सीन Zycov-D

First published: 27 August 2021, 14:56 IST
 
अगली कहानी