Home » इंडिया » ASI finds treasure at uttar pradesh bagpat sinhauli
 

बागपत में जमीन की खुदाई के दौरान मिला खजाना, महाभारत काल के मिले रथ और मुकुट!

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 May 2019, 14:11 IST

आर्कियॉलजिकल सर्वे ऑफ इंडिया को उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में आने वाले सनौली में बड़ी सफलता हासिल हुई है. पुरातत्व विभाग को यहां जमीन के नीचे 4000 साल पुराने शाही ताबूत, पवित्र कक्ष, दाल-चावल से भरे मटके, औजार, मुकुट, तलवारें और इंसानों के साथ दफनाई गई जानवरों की हड्डियां मिली हैं. 

इस बारे में एएसआई इंस्टिट्यूट ऑफ़ आर्कियॉलजी के डायरेक्टर डॉ एस. के मंजुल ने कहा कि एएसआई को सनौली में महाभारत काल के कई प्राचीनतम सभ्यताओं के अवशेष मिले हैं. यहां जनवरी 2018 में खुदाई शुरू की गई थी, जिसमें उन्हें दो रथ, शाही ताबूत, तलवारें, मुकुट, ढाल मिले थे, जिससे ये बात साबित हो गया कि यहां करीब 2 हजार साल पहले सैनिक रहा करते थे.


डॉ. एस. के मंजुल ने आगे कहा कि इस बार की खुदाई में हड़प्पन सभ्यता के अवशेष बरामद हुए हैं. इन अवशेषों को देखकर ऐसा लगता है ये हड़प्पन सभ्यता के सबसे विकसित समयों में से एक थे. इन अवशेषों से ये समझने में काफी आसानी होगी कि गंगा और यमुना नदी के किनारे कैसे हडप्पन संस्कृति का विकास हुआ.

video: लड़कियों को छोटे कपड़ों में देख भड़की महिला, बोली- 'इनके साथ तो रेप होना चाहिए'

इसके साथ ही यहां पर खुदाई में तांबे की तलवारें, ढाल, मुकुट, रथ भी मिले हैं. साथ ही यहां मटके में चावल और उड़द दाल भी मिले.

पुरातत्व विभाग को यहां इन सामानों के अलावा कब्रें मिली हैं. इन कब्रों के पास से जंगली सूअर और नेवले के शव भी प्राप्त हुए हैं. इन शव से इस बात को समझा जा सकता है कि यहां जानवरों की बलि दी जाती थी.

भारत और बांग्लादेश को मिली आतंकी हमले की धमकी, पोस्टर में लिखा- बदले की प्यास अभी बुझी नहीं

First published: 1 May 2019, 14:11 IST
 
अगली कहानी