Home » इंडिया » Delhi Air Pollution: Delhi government proposal to the Supreme Court on Lockdown in the capital
 

Pollution in Delhi: प्रदूषण के चलते दिल्ली-NCR में बंद किए गए स्कूल, आज सुप्रीम कोर्ट में लॉकडाउन पर होगी चर्चा

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 November 2021, 8:57 IST

Air Pollution in Delhi:  दिल्ली समेत राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में फैले प्रदूषण से बुरा हाल है. प्रदूषण के चलते राजधानी में एक बार फिर से लॉकडाउन लगाने की चर्चा होने लगी है. इसी बीच दिल्ली के स्कूलों को बंद कर दिया गया है और लोगों को घर से बाहर न निकलने की हिदायत दी गई है. दिल्ली में लॉकडाउन लगाने को लेकर दिल्ली सरकार आज सुप्रीम कोर्ट में अपना प्लान रखेगी. इससे पहले शनिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि लॉकडाउन का फैसला काफी बड़ा है और इससे पहले बड़े स्तर पर चर्चा की जाएगी. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए शनिवार को दिल्ली सरकार से लॉकडाउन के बारे में विचार करने को कहा था.

बता दें कि राजधानी दिल्ली में बीते कुछ दिनों से हवा का स्तर काफी खराब बना हुआ है. जिसकी वजह दिल्ली के आसपास के इलाकों में धान की पराली जलाना और दिवाली पर पटाखों के इस्तेमाल को माना जा रहा है, लेकिन जानकार वाहनों से होने वाले उत्सर्जन और निर्माण कार्यों को भी प्रदूषण के लिए जिम्मेदार मान रहे हैं. हालात पर काबू पाने के लिए दिल्ली-एनसीआर के कुछ हिस्सों में स्कूलों को फिर से बंद कर दिया गया है.


एक सप्ताह के लिए फिर से लगा स्कूलों में ताला

बता दें कि प्रदूषण के चलते राजधानी दिल्ली में स्कूलों को बंद कर दिया गया है. दिल्ली के सभी स्कूल 15 नवंबर से एक हफ्ते के लिए बंद कर दिए गए हैं. वहीं गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, झज्जर में में भी स्कूलों को 17 नवंबर तक के लिए बंद कर दिया गया है. एयर क्वालिटी मैनेजमेंट कमीशन ने रविवार को राजस्थान और उत्तर प्रदेश को भी इस तरह की पाबंदियों पर विचार करने का सुझाव दिया है. इसके अलावा राजधानी में 17 नवंबर तक के लिए निर्माण कार्यों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. हरियाणा सरकार ने भी NCR के चार जिलों में निर्माण गतिविधियों पर रोक लगा दी है. पूर्वानुमान के मुताबिक,  निर्माण पर लगी रोक के चलते अगले दो दिनों में हवा की गुणवत्ता में कुछ सुधार देखा जा सकता है.

इसके साथ ही दिल्ली में आपातकालीन सेवाओं के अलावा सभी सरकारी दफ्तर बंद कर दिए गए हैं और उनके कर्मचारियों को घर से काम करने को कहा गया है. उधर हरियाणा सरकार ने भी दफ्तर के बजाए ज्यादा से ज्यादा घर से काम करने की बात कही है. दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने राजधानी में वायु प्रदूषण कम करने के लिए कुछ उपाय सुझाए हैं. इनमें डीजल जनरेटर के इस्तेमाल पर रोक लगाना, पार्किंग फीस बढ़ाना, मेट्रो और बस की फेरी बढ़ाने जैसे उपाय शामिल हैं.

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया 50 लाख का इनामी नक्सली, 26 नक्सलियों की मारे जाने की खबर

वहीं दिल्ली में उड़ती धूल से निपटने के लिए 400 टैंकर पानी का छिड़काव किया जा रहा है. इसके अलावा सरकार ने पराली को सड़ाने के लिए बायो-डिकम्पोजर के छिड़काव के काम को 20 नवंबर तक पूरा कर लेने की बात कही है. बता दें कि दिल्ली यातायात पुलिस ने प्रदूषण नियमों का उल्लंघन करने और पुराने वाहनों को चलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई तेज करते हुए शहर के 170 स्थानों पर टीम तैनात की. 

CBSE छात्र इस बार नए पैटर्न में देंगे एग्जाम, यहां देखें 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा का पूरा कार्यक्रम

First published: 15 November 2021, 8:57 IST
 
अगली कहानी