Home » इंडिया » Delhi Air Pollution: Delhi, Mumbai and Kolkata in 10 most polluted cities list
 

दुनियाभर में सबसे जहरीली हुई दिल्ली की हवा, ये हैं दुनिया के 10 सबसे प्रदूषित शहर

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 November 2021, 11:59 IST

दिल्ली में प्रदूषण से बुरा हाल है. दुनिया के सबसे प्रदूषण शहरों में राजधानी दिल्ली सबसे अब्बल नंबर पर पहुंच गई है. वहीं दुनिया के 10 सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में भारत के तीन शहर शामिल हो गए हैं. दिल्ली में अगले दो-तीन दिनों तक प्रदूषण से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है. राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को मौसम का सबसे खराब AQI या एयर क्वालिटी इंडेक्स दर्ज किया गया है. उधर स्विट्जरलैंड के क्लाइमेट ग्रुप IQAir ने दुनिया के 10 सबसे प्रदूषित शहरों की सूची जारी की है. जिसमें तीन शहर भारत बताए गए हैं और इस सूची में पहले नंबर पर राजधानी दिल्ली का नाम दर्ज है. वहीं कोलकाता और मुंबई को भी दुनिया के दस सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में शामिल किया गया है. बता दें कि IQAir संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम का भी टेक्नोलॉजी पार्टनर है.

IQAir ने दुनिया के जिन दस सबसे प्रदूषित शहरों की सूची जारी की है उनमें पहल नाम भारत की राजधानी दिल्ली का है. जहां शुक्रवार को AQI यानी प्रदूषण का स्तर 556 मापा गया. वहीं दूसरे नंबर पर पाकिस्तान का लाहौर शहर है जहां AQI 354 रहा. इसके अलावा बुल्गारिया की राजधानी सोफिया को इस सूची में तीसरे नंबर पर रखा गया है. जहां एयर क्वालिटी इंडेक्स 178 नापा गया है. वहीं चौथे नंबर पर भारत का शहर कोलकाता रहा जहां AQI 177 और पांचवें नंबर पर क्रोशिया का शहर जागरेब है जहां वायु की गुणवत्ता 173 मापी गई है.


भारत का मुंबई दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में छठवें स्थान पर है. जहां AQI: 169 मापा गया. इसके अलावा सर्बिया की राजधानी बेलग्रेड सातवें स्थान पर है. जहां वायु गुणवत्ता 165 है. चीन का चेंगडू आठवें स्थान पर है जहां AQI 165 रहा. नॉर्थ मैसेडोनिया का शहर स्कॉपये को इस सूची में नौवें स्थान पर रखा गया है. जहां AQI 164 नापा गया. वहीं दसवें नंबर पर पोलैंड का शहर क्राको हैं जहां वायु की गुणवत्ता 160 रही है.

बता दें कि एक्यूआई शून्य से 50 के बीच ‘अच्छा’ माना जाता है. वहीं 51 से 100 के बीच इसे ‘संतोषजनक’ और 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’ माना जाता है. वहीं 201 से 300 के बीच हवा की गुणवत्ता को ‘खराब’ और 301 से 400 के बीच ‘बेहद खराब’ माना जाता है. वहीं 401 से 500 के बीच पहुंचने पर हवा की गुणवत्ता ‘गंभीर’ मानी जाती है. वहीं इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मीटियोरोलॉजी के डिसीजन सपोर्ट सिस्टम ने शुक्रवार को बताया कि राजधानी दिल्ली में पड़ोसी शहरों जैसे झज्जर, गुरुग्राम, बागपत, गाजियाबाद और सोनिपत से भी प्रदूषक आ रहे हैं.

पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी ने जारी की लिस्ट, पहली सूची में 10 लोगों के नाम

DSS का एनालिसिस बताया है कि शुक्रवार को धान की पराली ने दिल्ली में 2.5 PM में 15 फीसदी का योगदान दिया. इस दौरान गाड़ियों से निकले धुंए का हिस्सा 25 फीसदी और घरेलू उत्सर्जन 7 प्रतिशत रहा. वहीं शहर के उद्योगों ने प्रदूषण में 9-10 प्रतिशत योगदान दिया है.

Norovirus: केरल में नोरोवायरस का कहर, वायनाड में 11 छात्र हुए संक्रमित, ऐसे फैलती है ये बीमारी

First published: 13 November 2021, 11:59 IST
 
अगली कहानी