Home » इंडिया » Jammu Kashmir: Encounter between security forces and terrorist in Bandipora area of Anantnaag, one terrorist killed
 

जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी ढेर

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 October 2021, 7:55 IST
(File Photo)

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में रविवार देर रात सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हो गई. इस मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने एक आतंकवादी को मार गिराया. मारे गए आतंकी की अभी तक पहचान नहीं हुई है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, ये मुठभेड़ अनंतनाग जिले के बांदीपोरा के हाजिन इलाके में हुई. इस मुठभेड़ में एक पुलिसकर्मी के घायल होने की भी खबर है. कश्मीर जोन की पुलिस के मुताबिक अभियान अभी भी जारी हैै और सुरक्षाबल इलाके में छिपे आतंकवादियों की तलाश कर रहे हैं.

बता दें कि इन दिनों कश्मीर में सिलेक्टिव किलिंग का सिलसिला भी चल रहा है. आतंकी गैर मुस्लिम लोगों को खासकर कश्मीरी पंडितों को निशाना बना रहे हैं. ऐसे हमलों को अंजाम देने वाले आतंकियों पर बड़ी और कड़ी कार्रवाई की तैयारी चल रही है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने प्रदेश सरकार से इस नई चुनौती से निपटने पर चर्चा की है. सूत्रों के मुताबिक, सुरक्षा एजेंसियों और खुफिया एजेंसियों से कश्मीर में सक्रिय आतंकियों का ब्योरा मांगा गया है. साथ ही इन आतंकियों की मदद करने वालों की धरपकड़ भी शुरु की जाएगी. बता दें कि कश्मीर में मौजूद कुछ आतंकी युवाओं से पहले सिलेक्टिव किलिंग करवाकर फिर उनको अपने संगठन में शामिल कर रहे हैं. गृह मंत्रालय आतंकियों की इस नई चाल का तोड़ निकालने के लिए मंथन कर रहा है.


बता दें कि लश्कर-ए-तैयबा का संगठन  द रजिस्टेंस फ्रंट (TRF) में सक्रिय कुछ आतंकी युवाओं को अपने साथ जोड़कर उनसे गैर मुस्लिमों की हत्या करवा रहे हैं. संगठन इन युवाओं को टारगेट देता है कि उनको अपने लिए पिस्टल का इंतजाम करना है. इसके लिए उनके अकाउंट में पैसा ट्रांसफर कर दिया जाता है. जब वह पिस्टल का इंतजाम कर लेते हैं तो फिर इनके जरिए दूसरे युवाओं को पिस्टल दी जाती है और उसके बाद उन्हें एक टारगेट दिया जाता है. वारदात को अंजाम देने के बाद टीआरएफ उसे अपने संगठन में शामिल कर लेता है. यही कारण है कि कश्मीर में युवा आतंकियों से सिलेक्टिव किलिंग कराई जा रही है.

Weather Update: उत्‍तर भारत से शुरु हुई मानसून की विदाई, इन राज्यों में फिर बारिश का अनुमान

बता दें कि इन आतंकियों ने हाल ही में कश्मीरी पंडित कारोबारी, गोलगप्पे बेचने वाले श्रमिक, दो शिक्षकों की हत्या कर दी थी. उसके बाद से ही केंद्रीय गृह मंत्रालय चिंतित है. इसी के चलते प्रदेश के बड़े प्रशासनिक अफसरों और पुलिस अफसरों समेत खुफिया एजेंसियों के अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी गई है. जिससे टीआरएफ में शामिल होने के लिए चल रही सिलेक्टिव किलिंग पर रोक लगाई जा सके.

अयोध्या: राम मंदिर में लगेगा 613 किलो का घंटा, जानिए मंदिर में जाने से पहले क्यों बजाई जाती है घंटी

First published: 11 October 2021, 7:55 IST
 
अगली कहानी