Home » इंडिया » Ladakh: China not agreeable and also could not provide any forward-looking proposals
 

लद्दाख विवाद: न भारत की बात मान रहा चीन और न ही खुद कोई रास्ता बता रहा- भारतीय सेना

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 October 2021, 10:36 IST
india china (catch news)

Ladakh Dispute: पिछले साल मई महीने में शुरू हुए भारत और चीन (India China Dispute) के बीच सीमा विवाद का अभी तक कोई हल निकल नहीं पाया है. रविवार 10 अक्टूबर को दोनों देशों के बीच 13वीं बार सैन्य वार्ता हुई. यह वार्ता 8 घंंटे से ज्यादा चली. इसके बाद भी इस मामले का कोई हल नहीं निकल सका है.

भारतीय सेना ने बताया कि चीन न तो भारतीय प्रतिनिमंडल की बात सुन रहा है और न ही खुद कोई रास्ता बता रहा है. भारतीय सेना ने अपने बयान में कहा कि बैठक में सीमा विवाद के साथ बाकी मुद्दों के समाधान पर भी दोनों देश फिर से किसी नतीजे पर नहीं पहुंचे. हालांकि भारतीय सेना ने आशा जताई कि चीन मुद्दों के समाधान पर आगे बढ़ेगा.

सेना ने बयान में कहा कि बैठक के दौरान दोनों देशों के बीच की वार्ता पूर्वी लद्दाख में एलएसी से जुड़े बाकी मुद्दों के समाधान पर ही केंद्रित रही. इस दौरान भारतीय पक्ष ने जानकारी दी कि एलएसी पर चीनी पक्ष द्वारा यथास्थिति को बदलने तथा द्विपक्षीय समझौतों के उल्लंघन की वजह से मौजूदा स्थिति पैदा हुई. इसलिए चीनी पक्ष बाकी क्षेत्रों में उचित कदम उठाए, जिससे पश्चिमी क्षेत्र में शांति बहाल हो सके.

भारत ने भरोसा जताया कि चीन द्विपक्षीय संबंधों के समस्त पहलुओं का ध्यान रखेगा तथा बाकी इलाकों में सैन्य वापसी पर कदम उठाएगा. बता दें कि रविवार को चुशुलू-मोल्डो बार्डर पर भारत-चीन की सेना के बीच कोर कमांडर स्तर की बैठक हुई थी. पिछले साल मई महीने में लद्दाख में शुरू हुए तनाव के बाद इ दोनों देशों के कोर कमांडरों के बीच यह 13वें दौर की बातचीत थी. 

जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी ढेर

First published: 11 October 2021, 10:36 IST
 
अगली कहानी