Home » इंडिया » Lockdown: 300 Indians stranded in Pakistan for several days allowed to visit India
 

लॉकडाउन: कई दिनों से पाकिस्तान में फंसे 300 भारतीयों को भारत आने की मिली अनुमति

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 May 2020, 9:22 IST

 Coronaviurs : कोरोना वायरस महामारी के कारण पाकिस्तान में फंसे 300 से अधिक भारतीय नागरिक अपने घर वापस आने की तैयारी में हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार भारत सरकार ने इन लोगों को भारत लौटने की अनुमति दे दी है. मीडिया रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि ये लोग शनिवार को अटारी-वाघा सीमा पार करके भारत में जाएंगे. लोगों के इस समूह में जम्मू - कश्मीर के 80 छात्र शामिल हैं जो लाहौर में पढ़ रहे हैं. इस समूह में इस्लामाबाद में 10 भारतीय और ननकाना साहिब में 12 भारतीय नागरिक भी शामिल हैं जो अपने रिश्तेदारों से मिलने गए थे और कोविड -19 के बाद यात्रा प्रतिबंधों के कारण वहां फंस गए थे.

रिपोर्ट के अनुसार लगभग 200 भारतीय नागरिक कराची और पाकिस्तान के सिंध प्रांत के अन्य हिस्सों में रह रहे हैं. इन लोगों को एक हलफनामे पर हस्ताक्षर करने के लिए कहा गया जिसके बाद उन्हें लौटने की अनुमति मिली. पाकिस्तान ने समूह को वाघा सीमा पर ले जाने की सारी व्यवस्था कर दी है, उन्हें शुक्रवार रात तक वहां लाया जाएगा और शनिवार को भारतीय अधिकारियों को सौंप दिया जाएगा.


इससे पहले 176 पाकिस्तानी नागरिकों को अटारी-वाघा बॉर्डर क्रॉसिंग के माध्यम से बुधवार को पाकिस्तान भेजा गया जो, लॉकडाउन के करण भारत में फंस गए थे. इनमें से अधिकांश लोग तीर्थयात्रा पर भारत आए थे. पाकिस्तानी रेंजरों ने उन्हें सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) से रिसीव किया. ऐडही फाउंडेशन (Edhi Foundation) के मोहम्मद यूनिस ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया "इन लोगों में शामिल महिलाओं और बच्चों सहित पाकिस्तानी नागरिकों को लाहौर में क्वारंटाइन केंद्रों में स्थानांतरित कर दिया गया, जहां वे 72 घंटे रहेंगे."

COVID-19 महामारी के प्रकोप के बाद बढ़ाये गए लॉकडाउन और अटारी-वाघा सीमा के बंद होने के कारण वे छत्तीसगढ़, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और दिल्ली में फंस गए थे. 20 मार्च 2020 से अब तक 400 पाकिस्तानी नागरिक भारत से अपने देश लौट चुके हैं.

मैंने पीएम मोदी से बात की, वह चीन से विवाद के बाद अच्छे मूड में नहीं हैं : डोनाल्ड ट्रंप

First published: 29 May 2020, 9:09 IST
 
अगली कहानी