Home » इंडिया » Mumbai Terrorist Attack: Terrorist can target passengers on train by gas attack
 

मुंबई पर मंडरा रहा आतंकी हमले का खतरा, ट्रेन में यात्रियों को निशाना बना सकते हैं आतंकी, जारी किया अलर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 September 2021, 9:58 IST

देश की राजधानी दिल्ली से हाल ही में दिल्ली स्पेशल सेल ने 6 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया था. जिनमें से एक आरोपी मुंबई की स्लम बस्ती धारावी का रहने वाला है. दिल्ली स्पेशल सेल के सूत्रों की मानें तो गिरफ़्तार संदिग्ध आतंकी मुंबई की लोकल ट्रेन समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में आतंकी साजिश को अंजाम देने की कोशिश कर रहे थे. सूत्रों के मुताबिक, रेलवे पुलिस यानी की जीआरपी को एजेंसियों से संभावित आतंकी हमले की जानकारी मिली थी. खुफिया एजेंसियों ने जीआरपी को सचेत किया है कि आतंकवादी ट्रेन या प्लेटफॉर्म पर यात्रियों को गैस अटैक की मदद से नुकसान पहुंचा सकते हैं.

सूत्रों की मानें तो आतंकियों से पूछताछ के दौरान दिल्ली स्पेशल सेल को मिली जानकारी के अलावा जीआरपी को इस तरह के कई अलर्ट कई एजेंसियों से मिले हैं. एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, हमें समय-समय पर इस तरह के अलर्ट मिला करते हैं, ख़ासकर लोकल ट्रेन के लिए और हम हर एक अलर्ट को बहुत ही गंभीरता से लेते हैं. यात्रियों की सुरक्षा के लिए हम उस तरह के कदम भी उठाते हैं. बता दें कि दिल्ली पुलिस की करवाई के बाद जीआरपी ने मुंबई के सभी बड़े रेलवे स्टेशन की सुरक्षा बढ़ा दी है और कुछ एंट्री और एग्ज़िट गेटों को बंद कर दिया गया है.


रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में संभावित आतंकी हमले के मद्देनजर जीआरपी ने लाइव मोकड्रिल करना शुरू कर दिया है, इसमें अधिकारी को यह सीखने मिलता है कि आतंकी हमले के दौरान कैसे यात्रियों को बचाना है और उन्हें पकड़ना है. जीआरपी ने अतिरिक्त पुलिस बल बड़े रेलवे स्टेशन पर तैनात किया है और जीआरपी नेशनल सिक्योरिटी गार्ड समेत दूसरी एजेंसियों के भी सम्पर्क में है. वहीं जीआरपी कमिश्नर कैसर ख़ालिद ने आदेश दिया है कि रेलवे स्टेशन पर हर समय पुलिस की मौजूदगी दिखाई देनी चाहिए. इसके अलावा समय समय लार बोम और डॉग स्कोड की भी पेट्रोलिंग होनी चाहिए., ताकि किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटा जा सके. जीआरपी ने हर उस जगह बैरिकेड्स और स्पीड ब्रेकर लगाए हैं, जहां से कोई भी गाड़ी (कार या दूसरा चार पहियों की गाड़ी) प्लेटफ़ोर्म पर जा सकती है. आतंकियों का आतंक फैलाने का यह सबसे सरल तारिका है, जिससे ज़्यादा से ज़्यादा लोगों की मौतें होती है.

Weather Updates: यूपी में आज भी भारी बारिश के आसार, इन राज्यों में भी जमकर बरसेंगे बदरा

सेंट्रल और वेस्टर्न रेलवे ने करीब सात हजार कैमरे लगाए

सुरक्षा के मद्देनजर जीआरपी उन स्थानों की भी जांच कर रही है. जो रेलवे से पास या प्लेटफॉर्म के नजदीक है. जहां पर गैस सिलिंडर का इस्तेमाल किया जाता है. जिससे आतंकी गैस लीक या सिलेंडर ब्लास्ट जैसे काम न कर पाएं. इसके अलावा रेलवे पुलिस अब पार्सल बुकिंग पर भी ध्यान दे रही है और जांच कर रही है. भेजे जा रहे पार्सल में कोई संदिग्ध चीज न हो. जीआरपी अधिकारी की मानें तो पूरे रेलवे में (सेंट्रल और वेस्टर्न) कुल 6 से 7 हजार सीसीटीवी कैमरे लगे हैं. अब जीआरपी और भी कैमरे लगवाने जा रही है, ताकि बचे हुए स्पॉट को कवर किया जा सके.

पीएम मोदी के जन्मदिन पर देशभर में रिकॉर्ड वैक्सीनेशन, एक दिन में ढाई करोड़ लोगों को लगे टीके

First published: 18 September 2021, 9:58 IST
 
अगली कहानी