Home » इंडिया » PM Modi address Janjatiya Gaurav Diwas in Bhopal on Birsa Munda Jayanti
 

Birsa Munda Jayanti: PM मोदी ने भोपाल से किया ‘राशन आपके द्वार’ योजना का शुभारंभ

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 November 2021, 15:28 IST

आदिवासी नेता और महान स्वतंत्रता सेनानी बिरसा मुंडा की जयंती पर भोपाल में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आदिवासियों की जमकर तारीफ की. पीएम मोदी ने आज के दिन को बड़ा बताते हुए कहा कि कमलापति के योगदान  को देश भुला नहीं सकता है. उन्होंने कहा कि आदिवासियों के लिए मध्य प्रदेश की सरकार ने कई योजनाएं शुरू की हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पहले की सरकारें आदिवासियों को प्राथमिकताएं नहीं देती थी. जनजातीय सम्मेलन में हिस्सा लेने के दौरान पीएम मोदी कहा कि मैंने प्रयास किया उन गीतों को समझने के लिए, क्योंकि मेरा ये अनुभव रहा है कि जीवन का एक महत्वपूर्ण कालखंड मैंने आदिवासियों के बीच बिताया है. मैंने देखा है कि उनकी हर बात में कोई न कोई तत्व ज्ञान होता है.

पीएम ने कहा कि Purpose of Life आदिवासी अपने नाच गान में, अपने गीतों में, अपनी परंपराओं में बखूबी प्रस्तुत करते हैं. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने "राशन आपके द्वार" योजना का शुभारंभ भी किया. इसके साथ ही, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रतलाम ज़िले में बनने वाले एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय का शिलान्यास भी किया. इस कार्यक्रम में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद रहे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भोपाल के जंबूरी मैदान में आयोजित कार्यक्रम में राशन आपके ग्राम योजना और हिमोग्लोबिनोपैथी मिशन का शुभारंभ किया.


इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आदिवासी समाज की परंपरा से जुड़ी टोपी पहनाई गई और तीर-धनुष भेंट किया गया. इसके साथ ही, पीएम मोदी फिर से तैयार किए गए रानी कमलापति रेलवे स्टेशन का उद्घाटन करने करने पहुंचे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिरसा मुंडा की जयंती के मौके पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए रांची में भगवान बिरसा मुंडा स्मृति उद्यान सह स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय का उद्घाटन किया.

CBSE छात्र इस बार नए पैटर्न में देंगे एग्जाम, यहां देखें 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा का पूरा कार्यक्रम

पीएम मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि, आजादी के इस अमृतकाल में देश ने तय किया है कि भारत की जनजातीय परंपराओं को, शौर्य गाथाओं को देश अब और भी भव्य पहचान देगा. इसी क्रम में ऐतिहासिक फैसला लिया गया है कि आज से हर साल देश 15 नवंबर यानी भगवान बिरसा मुंडा के जन्म दिवस को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाएगा. उन्होंने कहा कि, हमारे जीवन में कुछ दिन बड़े सौभाग्य से आते हैं, और जब ये दिन आते हैं तब हमारा कर्तव्य होता है कि उनकी आभा, उनके प्रकाश को अगली पीढ़ियों तक और ज्यादा भव्य रूम में पहुंचाए.

प्रदूषण को लेकर दिल्ली सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा, लॉकडाउन लगाने को हम तैयार

First published: 15 November 2021, 15:28 IST
 
अगली कहानी