Home » इंटरनेशनल » Afghanistan Crisis: 80 killed in Kabul blast, Khorasan group of ISIS claimed responsibility for the attack
 

Afghanistan Crisis: काबुल ब्लास्ट में 80 लोगों की मौत, ISIS के खुरासान ग्रुप ने ली हमले की जिम्मेदारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 August 2021, 8:54 IST
afghanistan blast (social media)

Afghanistan Blast: अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद स्थिति बदतर हो गई है. एक दिन पहले काबुल एयरपोर्ट पर फिदायिन हमला हुआ, इसमें 80 लोगों के मौत की खबर है. काबुल के हामिद करजई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के सामने पिछली शाम को दो लोगों ने खुद को उड़ा लिया. इन हमलों में 80 लोगों के मारे जाने के अलावा 200 से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन ISIS के खुरासान ग्रुप ने ली है. बता दें कि हमले में मरने वालों में अमेरिकी सेना के 12 कमांडो शामिल हैं. इस हमले के बाद अमेरिका  ने कहा कि आतंकवादी हमलों में मारे गए पीड़ितों के सम्मान में 30 अगस्त तक अमेरिकी ध्वज आधा झुका रहेगा.

हमलों को लेकर अमेरिका ने कहा कि वह काबुल एयरपोर्ट हमले के साजिशकर्ताओं का पता लगाएगा. अमेरिका ने शंका जताई कि यह हमला इस्लामिक स्टेट समूह ने अंजाम दिया है. अमेरिका ने आशंका जताई कि ऐसे हमले और भी हो सकते हैं. इस हमले को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन का कहना है कि वह अफगानिस्तान से अमेरिकी नागरिकों को बचाएंगे.

उन्होंने कहा कि अपने अफगान सहयोगियों को वह बाहर निकालेंगे और अमेरिका का मिशन जारी रहेगा. काबुल में धमाके को लेकर जो बाइडन ने कहा कि इस हमले को वह भूलेंगे नहीं और हमलावरों को माफ नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि हम हमलावरों को ढूंढेंगे और उन्हें इसका अंजाम भुगतना होगा. दूसरी तरफ तालिबान ने इस हमले के लिए अमेरिका को जिम्मेदार ठहराया है.

दूसरी तरफ संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने काबुल एयरपोर्ट पर हुए फिदायिन हमले की निंदा की. एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि ये घटना अफगानिस्तान के जमीनी हालात की अस्थिरता को दर्शाती है. 

6 साल तक अमेरिका में कैद था खूंखार आतंकी मुल्ला अब्दुल कय्यूम जाकिर, अब तालिबान ने बनाया रक्षा मंत्री

भारत के अलावा ये देश दे रहे अफगान शरणार्थियों को आसरा, इन देशों ने बंद की एंट्री

First published: 27 August 2021, 8:54 IST
 
अगली कहानी