Home » इंटरनेशनल » Afghanistan: Taliban killed a child after father suspected
 

अफगानिस्तान: पिता पर शक होने पर तालिबान ने दी बेटे को सजा, बेरहमी से उतारा मौत के घाट

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2021, 10:55 IST

अफगानिस्तान में तालिबान की हुकूूमत कायम होने के बाद नागरिक अधिकारों का लगातार हनन हो रहा है. तालिबान के खिलाफ आवाज उठाने वाले लोगों को बेरहमी से कत्ल कर दिया जा रहा है. लोगों पर तरह तरह की पाबंदियों ने उनका जीना दुश्वार कर दिया है. तालिबान शक के आधार पर ही लोगों को मौत के घाट उतारने से नहीं चूक रहा. यही नहीं वह शक के आधार पर ही उनकी हत्या कर रहा है या फिर उसने परिजनों को मौत के घाट उतार रहा है. ऐसा ही मामला, सामने आया है. जिसमें तालिबान ने एक मासूम बच्चे को सिर्फ इसलिए गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया. क्योंकि तालिबान को शक था कि उसका पिता तालिबान केे प्रतिरोधी मोर्चे से जुड़ा हुआ है. ये मामला अफगानिस्तान के तखार प्रांत से सामने आया है. पंजशीर के एक आब्जर्वर ने ट्वीट कर इस घटना की जानकारी दी है.

तालिबानी लोगों को मोबाइक की कर रहे जांच


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तालिबानी लड़ाके शक के बिनाह पर ही लोगों को गोली मार दे रहे हैं. वे सड़क चलते लोगों को रोक कर उनसे प्रतिरोधी मोर्चे या पिछली सरकार से जुड़े होने के बारे में पूछ रहे हैं. लोगों के मोबाइल छीन रहे हैं. कॉल डिटेल्स व फोटो चेक कर रहे हैं. अगर उन्हें शक भी होता है कि सामने वाला व्यक्ति उनके खिलाफ गतिविधियों में लिप्त है तो उसे सीधे गोली मार दी जा रही है.

बता दें कि काबुल की सत्ता हथियाने के बाद तालिबान ने कहा था कि उनकी लड़ाई खत्म हो गई है और अब वह किसी से बदला नहीं लेंगे. तालिबान ने कहा था कि अब अफगानिस्तान में शांति बहाल होगी. उनकी तरफ से बयान दिया गया था कि उन्होंने सभी को माफ कर दिया है. वे किसी से बदला नहीं लेंगे. इसके इतर, तालिबान उन सभी लोगों को ढूंढ-ढूंढ कर मार रहा है, जो पिछली सरकार या फिर अमेरिकी सेना के समर्थक रहे थे. पंजशीर में भी प्रतिरोधी मोर्चे से जुड़े लोंगों को मौत के घाट उतारा जा रहा है.

अमेरिका: बेपटरी हुई एम्‍पायर बिल्‍डर ट्रेन, तीन लोगों की मौत, कई के घायल होने की खबर

अफगानिस्तान में फिर सेे लौटे तालिबानी क्रूर शासन ने खूनखराबा करना शुरु कर दिया है. अभी रविवार को ही तालिबान ने हेलमंद प्रांत में सैलूनों के बाहर नोटिस चिपकाए थे, जिसमें सैलून संचालकों को किसी भी व्यक्ति की दाढ़ी बनाने से मना किया गया था. लोगों से कहा गया है कि वे इस्लाम के नियम मानते हुए दाढ़ी बढ़ाएं. ऐसा न करने पर उन्हें गोली मार दी जाएगी.

लैंडिंग गियर में खराबी आने के बाद दो घंटे तक हवा में उड़ता रहा विमान, यात्रियों को लगा कि ये है आखिरी सफर और फिर...

First published: 28 September 2021, 10:55 IST
 
अगली कहानी