Home » इंटरनेशनल » Corona’s new variant detects in South Africa, Scientists issued alert, know here new variant of COVID-19
 

साउथ अफ्रीका में मिला कोरोना का नया वैरिएंट, वैज्ञानिकों ने दी ये चेतावनी

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 November 2021, 18:59 IST

दुनियाभर में भले ही कोरोना के मामले कम होने के साथ ही तमाम पाबंदियां कम कर दी गई हों लेकिन खतरा अब भी बरकरार है. इसी बीच एक ऐसी खबर सामने आई है जिसने दूनिया को चौका दिया है. दरअसल, दक्षिण अफ्रीका में कोरोना का एक नया वैरिएंट मिला है. जो दुनिया पर एक बार फिर से कहर बरपा सकता है. नेशनल इंस्टीट्यूट फार कम्युनिकेबल डिजीज ने गुरुवार को इस बात की जानकारी दी है. बताया जा रहा है कि वैज्ञानिक एक नए कोरोना स्वरूप के संभावित प्रभावों को समझने की कोशिश कर रहे हैं. जीनोमिक सीक्वेंसिंग के बाद पता चला है कि वैरिएंट बी 1.1.529 के दुनियाभर में अब तक 22 मामले सामने आ चुके हैं.

इससे पहले श्रीलंका में 19 नवंबर को कोरोना वायरस के डेल्टा वैरिएंट का एक नया उप-वंश का पता चला था. इसका वैज्ञानिक नाम बी.1.617.1.एवाई 104 रखा गया था और यह इस द्वीपीय देश में पैदा होने वाला कोरोना वायरस का तीसरा म्यूटेशन था. दरअसल, अब तक कोरोना का डेल्टा वैरिएंट बेहद संक्रामक साबित हुआ है और इस साल की शुरुआत और मध्य में पूरी दुनिया में तेजी से इस बीमारी के मामले बढ़ने की वजह बना था. इंपीरियल कॉलेज लंदन के एक वायरोलॉजिस्ट डॉ टॉम पीकॉक ने जीनोम-शेयरिंग वेबसाइट पर नए संस्करण का विवरण शेयर किया है.


जिसमें कहा गया है कि, "अविश्वसनीय रूप से उच्च मात्रा में स्पाइक म्यूटेशन बताते हैं कि यह वास्तविक चिंता का विषय हो सकता है." पीकॉक ने कहा कि, "उस भयानक स्पाइक प्रोफाइल के कारण बहुत अधिक निगरानी की जरूरत है.” उन्होंने ये भी कहा कि यह एक "विषम क्लस्टर" हो सकता है जो बहुत पारगम्य नहीं है

इंग्लैंड की स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी में कोविड-19 के मामलों की निदेशक डॉ मीरा चंद ने कहा कि दुनिया भर के वैज्ञानिकों के साथ मिलकर एजेंसी लगातार Sars-CoV-2 वेरिएंट की स्थिति की निगरानी कर रही है, क्योंकि इस तरह के मामले दुनिया भर में तेजी से बढ़ रहे हैं. बता दें कि कोरोना के नए वैरिएंट का पहला मामला 11 नवंबर को बोत्सवाना में सामने आया था. उसके तीन दिन पहले ही दक्षिण अफ्रीका में इसी तरह के तीन मामले सामने आ चुके थे.

अगर आप भी करते हैं सर्दियों में अदरक वाली चाय पीना तो हो जाएं सावधान, इन गंभीर बीमारियों का हो सकते हैं शिकार!

वहीं हांगकांग में 36 साल के एक शख्स में कोरोना का नया वैरिएंट मिला था. जिसने हांगकांग से दक्षिण अफ्रीका के लिए उड़ान भरने से पहले कोरोना के पीसीआर परीक्षण में नकारात्मक पाया गया था.  जहां वह 22 अक्टूबर से 11 नवंबर तक रहा. उसके बाद उसने हांगकांग लौटने पर परीक्षण कराया तब भी वह नकारात्मक पाया गया था. लेकिन 13 नवंबर के परीक्षण में वह कोरोना के नए वैरिएंट से संक्रमित पाया गया.

नारियल तेल से मिलते हैं ये अचूक फायदे, सर्दियों में आपकी स्किन को देगा निखार

First published: 25 November 2021, 18:59 IST
 
अगली कहानी