Home » इंटरनेशनल » Corona virus became uncontrollable again in America, children started getting sick as soon as school opened, 1.42 lakh infected in a week
 

अमेरिका में फिर बेकाबू हुआ कोरोना वायरस, स्कूल खुलते ही बीमार होने लगे बच्चे, एक सप्ताह में 1.42 लाख हुए संक्रमित

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 November 2021, 7:29 IST

कोरोना वायरस का खतरा अभी पूरी तरह से कम नहीं हुआ है. ऐसे में थोड़ी सी लापरवाही किसी को भी भारी पड़ सकती है. इनदिनों अमेरिाक में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है. दरअसल, अमेरिका में अब पहले की तुलना में कोरोना वायरस का शिकार बच्चे हो रहे हैं. अमेरिकन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स (AAP) की रिपोर्ट के मुताबिक, बीते एक सप्ताह में अमेरिका में  1,41,905 बच्चे कोरोना संक्रमित हुए हैं. इस रिपोर्ट के मुताबिक, बच्चों में संक्रमण की गति में बीते दो सप्ताह की तुलना में 32 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है. आंकड़े बताते हैं कि अमेरिका में बीते सप्ताह मिले संक्रमण के एक तिहाई मामले बच्चों से जुड़े हुए हैं. बता दें कि अमेरिका में बच्चों की आबादी 22 फीसदी है और महामारी की चपेट में तीन फीसदी से कम बच्चे आए हैं.

इसके मुताबिक, 68 लाख से अधिक बच्चे कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. एएपी की रिपोर्ट में कहा गया है कि संक्रमण की वजह से बच्चों में मौत की दर बेहद कम है. रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना से छह अमेरिकी राज्यों में एक भी बच्चे की मौत नहीं हुई है. बच्चों में संक्रमण के सामान्य लक्षण दिख रहे हैं. हल्के बीमार हो रहे हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि बच्चों को समय-समय पर इंफ्लूएंजा, मेनिनजाइटिस, चिकनपॉक्स और हेपेटाइटिस का टीका लग रहा है, जो उनके इम्युन को मजबूत बनाता है. वहीं सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के मुताबिक, अक्तूबर में 5 से 11 साल तक के 8300 बच्चे कोरोना संक्रमण के बाद अस्पताल में भर्ती किए गए.


इसमें से 172 ने दम तोड़ दिया. सीडीसी ने कहा है कि महामारी की तेज गति के बीच 2300 स्कूलों को फिर से बंद किया गया, जिससे 12 लाख बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हुई. अब स्कूल खुलने के साथ ही संक्रमण बेकाबू होने लगा है, जो आने वाले समय के लिए चेतावनी है. अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्सियश डिजीज के निदेशक डॉ. एंथनी फौसी का कहना है कि हाल के दिनों में संक्रमण की दर हर उम्र के बच्चों में बढ़ रही है, जो चिंताजनक स्थिति है. डॉ. एंथनी फौसी का कहना है कि हमारे आसपास कई तरह के वायरस घूम रहे हैं. बच्चों को लेकर सबसे ज्यादा सावधानी बरतनी होगी अन्यथा हालात एक बार फिर से बिगड़ सकते हैं. एएपी की रिपोर्ट के मुताबिक, बड़ों की तुलना में संक्रमित बच्चों को अस्पताल में भर्ती होने की नौबत कम आ रही है.

अदरक और लहसुन में अंतर नहीं कर पाए इमरान खान के मंत्री फवाद चौधरी, पाक पत्रकार ने शेयर किया वीडियो

First published: 25 November 2021, 7:29 IST
 
अगली कहानी