Home » धर्म » Diwali 2021: Diwali 2021: This thing must be eaten on the night of Diwali, happiness and prosperity will not be seen by anyone
 

Diwali 2021: दिवाली की रात जरूर खानी चाहिए ये चीज, सुख-समृद्धि को नहीं लगेगी किसी की नजर

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 November 2021, 13:29 IST

त्योहार हमारी जिंदगी में बहुत महत्व रखते हैं. ऐसे में पूजा अर्चना करना शुभ माना जाता है. नवंबर की शुरुआत से ही त्योहारी सीजन की शुरुआत हो चुकी है. पहले धनतेरस और अब दिवाली का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है. ये पूरा सप्ताह ही त्योहारों से भरा हुआ है. दिवाली के बाद गोवर्धन पूजा और फिर भैया दूज का त्योहार मनाया जाएगा. आज हम आपको बता रहे हैं कि शास्त्रों के मुताबिक, त्योहारों पर किन चीजों को खाना शुभ माना जाता है. ऐसा माना जाता है कि इन चीजों को खाने जातक का भाग्य चमक उठता है. तो आप भी इस दिवाली ये चीज जरूर खाएं जिससे पूरे साल भाग्य आपका साथ देता रहे.

ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, धनतेरस के दिन उत्तर भारत में छोटी कन्याओं को दही बताशे खिलाए जाते हैं. बता दें कि बताशे को गोलगप्पे भी कहते हैं, लेकिन इनमें पानी की जगह दही का इस्तेमाल किया जाता है. इसके अलावा धनतेरस पर नैवेद्य, लाप्सी, गुड़ की खीर और पंचामृत खाना भी शुभ माना जाता है, हालांकि अब धनतेरस का त्योहार निकल चुका है तो आप दिवाली पर बताए गए उपाच को जरूर आजमाएं.


धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, कार्तिक मास की कृष्ण चतुर्दशी को पवनपुत्र हनुमान का जन्म हुआ था. बजरंगबली को बूंदी का प्रसाद बहुत प्रिय होता है, इसलिए इस दिन यानी छोटी दिवाली के दिन बूंदी के लड्डू खाना बहुत शुभ मान जाता है. भगवान को बूंदी के लड्डू का भोग लगाकर आप प्रसाद के रूप में इसका वितरण भी कर सकते हैं.

वहीं दिवाली के दिन मखाने से बनी खीर खाने की मान्यता है. ऐसा माना जाता है कि मां लक्ष्मी को मखाने से बनी खीर का भोग लगाकर खुद प्रसाद के रूप में उसका सेवन करना चाहिए जो बहुत ही शुभ माना जाता है. इसके अलावा, उत्तर भारत में कई जगहों पर दिवाली की रात सूरन यानी जिमीकंद की सब्जी खाने का भी चलन है. दिवाली के त्योहार और सूरन की सब्जी को इंसान की उन्नति और खुशहाली से जोड़ा जाता है.

शादी से लेकर पैसों की तंगी तक सभी समस्याओं का समाधान है लौंग और कपूर, बस करने होंगे ये 5 उपाय

दिवाली के बाद आने वाले महत्वपूर्ण त्योहार गोवर्धन के मौके पर मालपुआ खाने की परंपरा है. गोवर्धन पूजा पर घर में कई स्वादिष्ट व्यंजन बनाए जाते हैं, लेकिन मालपुआ इनमें सबसे विशेष होता है. गोवर्धन पूजा पर मालपुआ खाना बेहद शुभ समझा जाता है. वहीं भाई दूज के मौके पर चावल खाना शुभ माना जाता है. दरअसल, चावल खिलाने के पीछे यमराज और यमुना की एक पौराणिक कथा भी है. इस त्योहर पर रोली और चावल का तिलक करने से भाई का भाग्योदय भी होता है.

Diwali Pooja Shubh Muhurat: ये है दिवाली पर पूजा करने का शुभ मुहूर्त, जानिए कैसे करें लक्ष्मी पूजन

First published: 4 November 2021, 13:29 IST
 
अगली कहानी