Home » धर्म » Diwali Pooja Timing: Know here shubh muhurt of Lakshmi Pooja on Diwali
 

Diwali Pooja Shubh Muhurat: ये है दिवाली पर पूजा करने का शुभ मुहूर्त, जानिए कैसे करें लक्ष्मी पूजन

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 November 2021, 9:56 IST

हमारा देश त्योहारों का देश माना जाता है. यहां रह ऋतु की शुरुआत और अंत में कोई न कोई त्योहार जरूर होता है. दिवाली भी शीत ऋतु के आगमन और वर्षा ऋतु के जाने पर मनाया जाने वाला महत्वपूर्ण त्योहार है. दिवाली के मौके पर लोग अपने घरों में दीप जलाकर रोशनी करते हैं. घरों में पकवान बनते, सबके लिए नए कपड़े बनाए जाते हैं और लोग एक दूसरे को शुभकामनाएं देते हैं. धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, इसी दिन भगवान राम रावण का वध कर लंका से वापस अयोध्या आए थे. भगवान राम के अयोध्या आने की खुशी और उनके स्वागत के लिए नगरवासियों ने घी के दिए जलाए और खुशियां मनाई.

तभी से हर साल दिवाली का त्योहार मनाया जाने लगा. शाम के वक्त मां लक्ष्मी की पूजा करना भी दिवाली के मौके पर शुभ माना जाता है. लेकिन शुभ मुहूर्त में ही मां लक्ष्मी की पूजा करना अच्छा रहता है. जिससे मां लक्ष्मी की कृपा जातक पर बनी रहती है. अगर कोई समस्या न हो तो कोशिश करनी चाहिए कि मां लक्ष्मी का पूजन एक खास समय यानी शुभ मुहूर्त में किया जाए. जानते हैं आज के दिन पूजा के लिए कौन सा मुहूर्त सबसे उत्तम है.


ये है दिवाली पर लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त

दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजा का विधान है, लेकिन लक्ष्मी पूजा शुभ मुहूर्त में ही करनी चाहिए. लक्ष्मी पूजा का सबसे बढ़िया समय शाम को 6 बजकर 10 मिनट से लेकर रात 8 बजकर 06 मिनट तक का है. इस दौरान लक्ष्मी और गणेश भगवान की पूजा करें और उन्हें भोग लगाकर घर में दिये जलाएं.

दिवाली पर बन रहे हैं ये अलग-अलग शुभ मुहूर्त

दिवाली का पूरा दिन अलग-अलग कार्य और पूजा करने के लिए बताया गया है. इन सबके लिए शुभ मुहूर्त भी बताए गए हैं. जिसमें लक्ष्मी पूजा प्रदोष काल का मुहूर्त शाम 05 बजकर 35 मिनट से लेकर रात 08 बजकर 10 मिनट तक का है. वहीं लक्ष्मी पूजा निशिता काल मुहूर्त  रात 11 बजकर 38 मिनट से अर्धरात्रि 12 बजकर 30 तक का है. उसके द अमावस्या तिथि प्रारम्भ 4 नवंबर 2021 की शाम 06 बजकर 03 मिनट से शुरु होगा. वहीं अमावस्या तिथि का समापन 05 नवंबर की सुबह 02 बजकर 44 मिनट पर होगा.

लक्ष्मी पूजा के लिए शुभ चौघड़िया मुहूर्त

दिवाली के लक्ष्मी पूजा के लिए चौघड़िया शुभ मुहूर्त भी होता है. इस बार यह प्रातः मुहूर्त (शुभ) सुबह 06 बजकर 35 मिनट से 07 बजकर 58 मिनट तक था. वहीं प्रातः मुहूर्त (चर, लाभ, अमृत) सुबह 10 बजकर 42 मिनट से दोपहर 02 बजकर 49 मिनट तक का है. अपराह्न मुहूर्त (शुभ) शाम 04 बजकर 11 मिनट से 05 बजकर 34 मिनट तक का है. शाम का मुहूर्त (अमृत, चर)  शाम 05 बजकर 34 मिनट से 08 बजकर 49 मिनट तक का है. रात्रि मुहूर्त (लाभ) मध्य रात्रि 12 बजकर 05 मिनट से 01 बजकर 43 मिनट तक का है.

पूजा में ये सामग्री जरूर करें शामिल

दिवाली के मौके पर लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त ही नहीं बल्कि पूजा में शामिल होने वाली सामग्री का भी अति महत्व है. लक्ष्मी पूजा के वक्त पूजा की थाली में फल, मेवा, मिठाई के अलावा जो सामान इस पूजा के लिए जरूरी होता है, वह है शरीफा, गन्ना, कैथा, अमरख, कमल का फूल, इमली और बैंगनी फूल की माला. आज गणेश लक्ष्मी पर बैंगनी फूलों की माला जरूर चढ़ाएं.

शादी से लेकर पैसों की तंगी तक सभी समस्याओं का समाधान है लौंग और कपूर, बस करने होंगे ये 5 उपाय

First published: 4 November 2021, 9:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी