Home » साइंस-टेक » Asteroid 3361 moving towards Earth at a speed of 30 thousand per km, It will pass from the earth on 21st November
 

30 हजार KM की रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा क्षुद्र ग्रह, इस छोटी सी गलती से मच सकती है तबाही

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 November 2021, 13:58 IST

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के मुताबिक, एक क्षुद्र ग्रह तेजी से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है. ये जल्द ही पृथ्वी के नजदीक से गुजरेगा. हालांकि, इसने अपनी परिक्रमा मार्ग में बदलाव किया तो पृथ्वी पर भयंकर तबाही मच सकती है. नासा (NASA) ने धरती के पास से गुजरने वाले इस विशाल एस्टेरॉयड (Asteroid) को 3361 Orpheus नाम दिया है. नासा के मुताबिक, जब यह पृथ्वी के पास से गुजरेगा तब इसकी रफ्तार करीब 30 हजार किलोमीटर प्रतिघंटा होगी. वैज्ञानिकों के मुताबिक, ये आकाशीय पिंड करीब 984 फुट चौड़ा है जो लंदन के बिग बेन से तीन गुना बड़ा है.

नासा इस क्षुद्र ग्रह पर अपनी नजर बनाए हुए हैं. वैज्ञानिकों का अनुमान के मुताबिक, ये पिंड रविवार, 21 नवंबर को धरती के पास से गुजरेगा. नासा ने कहा है कि ये क्षुद्र ग्रह धरती के पास जरूर आ रहा है, लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है. उसने कहा है कि ये धरती से 35 लाख मील की दूरी से गुजर जाएगा. नासा का मानना है कि कोई भी चीज जो 12 करोड़ मील के अंदर से गुजर रही है, वह धरती के पास का ऑब्‍जेक्‍ट है. नासा ऐसे निकट के पृथ्वी के ऑब्जेक्ट्स पर नजर रखता है.


परिक्रमा पथ में बदलाव से मच सकती है तबाही

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा इतनी रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रही किसी चीज को पृथ्वी के लिए खतरा मानती है. वैज्ञानिकों का मानना है कि अगर इस विशाल पिंड ने अपने परिक्रमा पथ में हल्‍का सा भी बदलाव किया तो ये धरती से टकरा सकता है जिससे भारी तबाही मच सकती है. एस्टेरॉयड  3361 Orpheus करीब 30 हजार किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से धरती की ओर आ रहा है.

बता दें कि फिलहाल नासा इसी तरह के करीब दो हजार क्षुद्र ग्रह पर नजर बनाए हुए हैं जो धरती के लिए खतरा बन सकते हैं. अगर किसी तेज रफ्तार स्पेस ऑब्जेक्ट के धरती से 46.5 लाख मील से करीब आने की संभावना होती है तो उसे खतरा माना जाता है. नासा का सेंट्री सिस्टम ऐसे खतरों पर पहले से ही नजर रखता है. फिलहाल 22 ऐसे एस्टेरॉयड हैं जिनके पृथ्वी से टकराने की आशंका जताई जा रही है.

एक छोटी सी गलती से आपके स्मार्ट फोन में हो सकता है भयंकर विस्फोट, तुरंत हो जाएं सावधान

बता दें कि क्षुद्र ग्रह या एस्टेरॉयड्स ऐसी चट्टानें होती हैं जो किसी ग्रह की तरह ही सूरज के चक्कर काटती हैं, लेकिन ये आकार में ग्रहों से काफी छोटी होती हैं. करीब 4.5 अरब साल पहले जब सोलर सिस्टम बना था, तब गैस और धूल के ऐसे बादल जो किसी ग्रह का आकार नहीं ले पाए और पीछे छूट गए, वही इन चट्टानें क्षुद्र ग्रह बनकर वायुमंडल में तैर रही है जो कई बार दूसरे गृह जैसे पृथ्वी के पास पहुंच जाती है और खतरा पैदा कर देती हैं.

सावधान: Gmail पर एक से ज्यादा अकाउंट बनाना हो सकता है खतरनाक, ऐसे करें डिलीट

First published: 18 November 2021, 13:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी