Home » साइंस-टेक » SBI installed ATM machine in Meghalaya's hospital where ATM maker was born, know the full story
 

मेघालय के जिस अस्पताल में हुआ ATM बनाने वाले का जन्म, वहां SBI ने लगाई ATM मशीन, जानिए पूरी कहानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 August 2021, 10:03 IST

मेघालय के एक अस्पताल, जहां एटीएम के आविष्कारक जॉन एड्रियन शेफर्ड-बैरोन (John Adrian Shepherd-Barron)का जन्म 1925 में हुआ था, को वैश्विक स्तर पर इस तरह के कैश डिस्पेंसर की पहली स्थापना के 53 साल बाद एक आटोमेटिक टेलर मशीन मिली है.

उन्होंने कहा कि एटीएम डॉ एच गॉर्डन रॉबर्ट्स अस्पताल (Dr H Gordon Roberts Hospital) में लगाया गया था, जो अगले साल 100 साल का हो जाएगा. पीटीआई के अनुसार अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ रोकेन नोंग्रुम ने बताया “अगले साल अस्पताल के शताब्दी समारोह से पहले परिसर में एटीएम स्थापित करने के लिए भारतीय स्टेट बैंक को एक याचिका दायर किए जाने के बाद 7 अगस्त को टेलर मशीन लगाई गई थी.”


उन्होंने कहा कि अस्पताल में एटीएम लगने से मरीजों और कर्मचारियों को काफी मदद मिलेगी. आगे उन्होंने कहा “हमारे अनुरोध पर विचार करने के लिए हम बैंक अधिकारियों के आभारी हैं. एटीएम स्पेशल है क्योंकि आटोमेटिक टेलर मशीन के आविष्कारक का जन्म 96 साल पहले इस अस्पताल में हुआ था."

शेफर्ड-बैरोन 1965 में एक सेल्फ-सर्विस कैश डिस्पेंसर के कांसेप्ट के साथ आए और वह एक मशीन से चॉकलेट बार निकालने से इसके लिए प्रेरित थे. पहला एटीएम 1967 में लंदन के एक बैंक में स्थापित किया गया था. एक लोकप्रिय टीवी शो के सितारों में से एक रेग वर्नी नकद निकालने वाले पहले व्यक्ति बने. भारत में जन्मे स्कॉट शेफर्ड-बैरोन का 2010 में स्कॉटलैंड के एक अस्पताल में निधन हो गया.

तुरंत हो जाएं सावधान, इस छोटी सी गलती से आपके फोन में हो सकता है भयंकर विस्फोट

First published: 11 August 2021, 9:59 IST
ATM
 
अगली कहानी